लखनऊ से प्रकाशित त्रैमासिक पत्रिका, कथाक्रम के अप्रैल-जून 2010 अंक में हिन्दी ब्लॉगिंग को मस्तराम की पोर्न भाषा सहित द्वेष, प्रतिस्पर्धा, ईर्ष्या, कुंठा से ग्रस्त तथा नितांत असभ्य, सामाजिक रूप से अमान्य शब्दावली का प्रयोग करते बताते हुए, संपादक शैलेंद्र सागर ने एक संपादकीय लिखा

GD Star Rating
loading...
कथाक्रम में, हिन्दी ब्लॉगों पर मस्तराम की पोर्न भाषा का प्रयोग किए जाने की बात करता संपादकीय, 5.0 out of 10 based on 6 ratings
इस पृष्ठ तक आने वाले, सर्च इंजिन से यह शब्द तलाशते आए:
  • मस्तराम
  • मस्तराम की कहानियाँ
  • मस्तराम की कहानी
  • मस्त राम
  • मस् तराम
  • मस्तराम मुसाफिर
  • हिन्दी पोर्न
  • मस्तराम की मस्त कहानियाँ
  • मस्तराम कि कहानी
  • मस्त राम की कहानी
  • मस्तराम की कहानिया