अहा! ज़िंदगी में समीर लाल, जगदीश्वर चतुर्वेदी, बी एस पाबला

4 Responses

  1. indu puri says:

    हा हा तो हमारे पाबला भैया,समीर दादा और चतुर्वेदीजी का ज़िक्र है यहाँ.इसमें कोई शक नही अभूत बड़े ब्लोगर और अच्छे इंसान हैं ये लोग.आहा जिंदगी अपने खूबसूरत रूप और पठनीय सामग्री के कारन मेरी प्रिय रही है.एक अलग अंदाज और पहचान है आहा जिंदगी की.ब्लॉग की दुनिया एक परिवार की तरह या यूँ कहूँ हमारे देश की जनसंख्या की तरह बढती जा रही है.सारी दुनिया सिमट कर एक अक्म्प्यूटर में आ गई है. पाबला वीरजी और दादा इत्तीईईई बधाई.चतुर्वेदीजी को भी.हा हा हा

    VA:F [1.9.22_1171]
    Rating: +1 (from 1 vote)
  2. मजा आ गया…जिस तरह बात से बात जुड़ी चौपाल तक!!

    VA:F [1.9.22_1171]
    Rating: 0 (from 0 votes)
  3. शुभ कामनाए

    VA:F [1.9.22_1171]
    Rating: +1 (from 1 vote)
  4. बधाई हो…!

    VA:F [1.9.22_1171]
    Rating: 0 (from 0 votes)