ओह!: हिन्दुस्तान में ‘घुघूती बासूती’

2 Responses

  1. पाबला जी, समाचार पत्र वाले तो प्रकाशित कर लेते हैं और खबर भी नहीं करते.आपके इस ब्लौग के कारण हमें भी पता चल जाता है. आभार.
    घुघूतीबासूती

    GD Star Rating
    loading...
  2. Kavita Rawat says:

    बेटी वाली मानसिकता को बदलने में अभी जाने कितना समय लगेगा……
    सार्थक आलेख के लिए घुघूतीबासूती जी को धन्यवाद और प्रस्तुति हेतु पाबला जी का आभार!

    GD Star Rating
    loading...